ये न भूलो…

Human-evolutionतुम मनुष्य हो ये न भूलो…
इस सृष्टि के सबसे बड़े चमत्कार हो …
ये न भूलो.. 
तुमने खुद को बदला है…..
हर परिस्थिति में खुद को ढाला है…
समुद्र से ज़मीन और फिर कई दौर देखे हैं…
तुमने अपने पैरों को बाजुओं में बदला है…
ये न भूलो…
पत्थर से आग को बनाया है…
तुमने नदी की धारा को बदला है…
जानवरों को अपना सहयोगी बनाया है…
तुमसे क्या नहीं हो सकता …
तुम तो नील हो चाँद तक नाप आये हो…
तुम्हीं गागारिन हो अन्तरिक्ष तक देख आये हो…
ये न भूलो…
तुम मांझी हो पत्थर काट कर रास्ता बनाते हो…
तुमने ही तो सत्य को जाना है ….
धरा के गुरुत्व को पहचाना है …
तुम्हीं यीशु हो, तुम्हीं बुद्ध हो…
ज्ञान का दीपक जलाते हो…
फिर क्यों न समाज बदलेगा…
एक नए जीवन में ढलेगा ….
क्योंकि , तुम मनुष्य हो
ये न भूलो…
इस सृष्टि के सबसे बड़े चमत्कार हो …
ये न भूलो….

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s